Loading

Where do you want to travel?

Travelbolg will lead you to famous domestic...

Image

सुखना झील , चण्डीगढ़

सुखना झील चण्डीगढ़ एक बेहद लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। इसकी गहराई फीट है ओर यह 3 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है । यह भारत सरकार द्वारा एक राष्ट्रीय आर्द्रभूमि के रूप में घोषित किया गया है। सुखना झील के बारे में अनोखी बात यह है कि यह एक मानव निर्मित झील है। निचले हिमालय की पहाड़ियों के बीच बसी सुखना झील को 1958 में चण्डीगढ़ की योजना बनाने वाले वास्तुकार ली कॉबूजीयर और उनके दल ने नियोजित किया था। इसका निर्माण शिवलिक पहाड़ी से नीचे आने वाले पानी पर बांध बनाकर किया गया था। लोग ठंडी हवा और प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेने के लिए सुबह में अकसर यहां आते हैं। झील के किनारे-किनारे अर्द्ध गोलाकार सड़क पर चहलकदमी करके लोग आनंदमयी हो उठते हैं ।सुखना झील चण्डीगढ़ एक बेहद लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। इसकी गहराई फीट है ओर यह 3 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है । यह भारत सरकार द्वारा एक राष्ट्रीय आर्द्रभूमि के रूप में घोषित किया गया है। सुखना झील के बारे में अनोखी बात यह है कि यह एक मानव निर्मित झील है। निचले हिमालय की पहाड़ियों के बीच बसी सुखना झील को 1958 में चण्डीगढ़ की योजना बनाने वाले वास्तुकार ली कॉबूजीयर और उनके दल ने नियोजित किया था। इसका निर्माण शिवलिक पहाड़ी से नीचे आने वाले पानी पर बांध बनाकर किया गया था। लोग ठंडी हवा और प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेने के लिए सुबह में अकसर यहां आते हैं। झील के किनारे-किनारे अर्द्ध गोलाकार सड़क पर चहलकदमी करके लोग आनंदमयी हो उठते हैं ।

सुखना झील के निचले भाग में 18 होल वाला गोल्फ मैदान है। सुखना झील में नौका प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं।  झील में विहार करने के लिए नावें भी किराये पर मिलती हैं। सुखना झील में एशियन रोइंग चैंपियनशिप का भी आयोजन किया जाता था। यह झील स्कीइंग, सर्फिंग जैसे अन्य वाटर स्पोर्ट्स गतिविधियों के लिए भी काफी लोकप्रिय है। सुखना झील में पैडल बोट से तफरी करना बहुत आनंदप्रद और सुखद लगता है। ठंड के दौरान यहां विदेशी प्रवासी पक्षि भी बड़ी संख्या में आते हैं, जिससे यह बर्डवाचिंग के लिए भी एक आदर्श स्थान बन जाता है। झील के निर्मल वातावरण में आप पिकनिक, बोटिंग और मेडिटेशन के लिए जा सकते हैं।